2,094 total views,  1 views today

हल्द्वानी ब्यूरो:

आरटीओ दफ्तर में तृतीय श्रेणी कर्मचारियों की हड़ताल आज छठे दिन सोमवार को भी जारी रही। कर्मियों की हड़ताल से दफ्तर में कामकाज पूरी तहर ठप पड़ गया है। इस हड़ताल से प्रदेश सरकार को करोड़ो का नुकसान तो हो ही रह है साथ ही आम जनमानस को भी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। कई लोग जिनको लाइसेंस संबंधी, वाहन संबंधी, परमिट संबंधित कार्य करने सुबह दफ्तर तो समय से पहुच गए मगर सभी कॉउंटरो के बन्द होने से निराशा स्वरूप घर वापस हो गए।

हड़ताल पर बैठे कर्मियों ने कहा कि करीब एक साल पूर्व परिवहन विभाग का नया ढांचा स्वीकृत किया गया था, जिसमें वरिष्ठ प्रशासनिक पदों में स्टाफिंग पैटर्न के तहत पदों को कम दर्शाया गया है।
इस पैटर्न के तहत 14 पद सृजित किये गये है जो कि इससे पूर्व 24 थे,जिस संबंध में परिवहन मंत्री की ओर से त्रुटि को सहीं करने के लिए शासन को निर्देशित किया गया है। लेकिन लंबे समय बाद भी शासन स्तर से त्रुटि में सुधार नहीं किया गया है। कई बार मांग के बाद भी सकारात्मक कार्रवाई नही की गई। जिस कारण अब मजबूरन हड़ताल की राह पकड़ने पड़ रही है। कर्मचारियों ने एक स्वर में जल्द से जल्द समस्याओं के निराकरण की मांग की। यहां अध्यक्ष श्याम सिंह लटवाल, अनिल रावत, मुकेश चौदरी, आनंद बल्लभ पाण्डे, दीपा बिष्ट, कविता बिष्ट, अमित सती, चंदन सिंह मेहरा, नवनीत जोशी, सुरेश पाण्डे, आनंद बल्लभ उप्रेती, खीम नेगी, चारु चंद, हिमांशु तड़ागी आदि शामिल रहे।

By Sandeep Pandey

लेखक covid 19 को 8 मार्च 2020 से लगातार कवर कर रहे है और इसपर बारीकी से नज़र बनाये हुए है। इसके साथ ही क्षेत्र की विभिन्न सामाजिक, राजनीतिक और आपराधिक मामलों पर 2015 से लिख रहे है। इसके साथ ही पर्यावरण और उत्तराखंड में रोजगार के विषय पर 2007 से कार्य कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *