88 total views,  1 views today

ऑनलाइन राशन कार्ड बनवाना अब पासपोर्ट बनवाने से भी मुश्किल हो गया है। इसके लिए उपभोक्ता को करीब दस से बारह प्रकार के दस्तावेज लगाने पड़ रहे हैं। इसके बावजूद इसे बनने में दो से तीन माह का समय लग रहा है। साथ ही इसमें यूनिट अपडेट और नवीनीकरण कार्य करवाना भी इतना ही मुश्किल हो गया है। जबकि पासपोर्ट बनने में मात्र चार प्रकार के दस्तावेज लग रहे हैं और यदि तत्काल आवश्यकता हो तो यह दस दिन में बनकर घर पहुंच रहा है

इन दिनों जिला पूर्ति विभाग में राशन कार्ड से संबंधित समस्याओं को लेकर पहुंचने वाले उपभोक्ताओं की संख्या बढ़ने लग गई है। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण राशन कार्ड बनवाने या इसमें संशोधन और नवीनीकरण की प्रक्रिया का जटिल होना है। जिस कारण कर्मचारियों के साथ नोकझोंक भी आम बात हो गई है। इसमें सबसे ज्यादा परेशानी पर्वतीय इलाकों में रहने वाले लोगों को हो रही है

इन्हें राशन कार्ड के कार्य के लिए कई किमी दूर अपने नजदीकी ब्लॉक कार्यालय या फिर तहसील जाना पड़ता है। जिस कारण पूरा दिन तो बर्बाद होता ही है, साथ ही उनका काम भी नहीं हो पाता है। दरअसल, केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय खाद्य योजना के लिए नया सॉफ्टवेयर बनाया है। जिसके तहत हर राशन कार्ड को अपडेट किया जा रहा है। इसमें दस्तावेजों को अपलोड किए बिना नया कार्ड जारी नहीं हो सकता। पर इसमें अधिक समय लगने के कारण उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ गई है। बिना राशनकार्ड ऑनलाइन किए राशन भी नहीं मिल रहा है

तत्काल में पासपोर्ट के लिए आवेदन किया जाए तो यह करीब दस दिनों के भीतर बन जाता है। जिसके लिए आपको आधार कार्ड, जन्म प्रमाणपत्र, हाईस्कूल का प्रमाणपत्र और एड्रेस प्रूफ देना होता है। पर राशन कार्ड बनवाने के लिए करीब 12 दस्तावेजों के साथ दो से तीन महीने का समय लग रहा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *