237 total views,  1 views today

रिपोर्टर- दीपक अधिकारी
स्थान- हल्द्वानी

एंकर- हल्द्वानी में पिछले 8 सालों से हृदय रोग केंद्र बंद पड़ा है। डॉ विमल पंत के निधन के बाद कुमाऊं का एकमात्र हल्द्वानी स्थित हृदय रोग केंद्र पूरी तरह से बंद हो गया है, लिहाजा पहाड़ के दूरदराज के इलाकों से लेकर मैदानी इलाकों तक के मरीज प्राइवेट अस्पतालों में लाखों रुपये खर्च कर अपना इलाज कराने को मजबूर हैं, वर्तमान में हार्ट केयर सेंटर को कोविड स्टोर बना दिया गया है, साथ ही वहां मौजूद मशीनें भी जंग खा रही हैं साथ ही अस्पताल भी खंडहर में तब्दील हो रहा है। वहीं इस मामले में जिलाधिकारी सविन बंसल का कहना है की कार्डियोलॉजिस्ट ना होने के चलते इस तरह की समस्या आ रही है फिलहाल शासन को भी डॉक्टरों की तैनाती के लिए लिखा गया है जैसे ही कार्डियोलॉजिस्ट डॉक्टर की उपलब्धता होगी तो हार्ट केयर सेंटर पुनः शुरू किया जाएगा, गौरतलब है कि विगत कई सालों से इसी शासन को लिखे जाने के बावजूद भी अब तक कुमाऊँ का एकमात्र हार्ट केयर सेंटर खंडहर में तब्दील हो चुका है लेकिन इस ओर न तो सरकार ध्यान दे रही है ना ही स्वास्थ्य विभाग इस सब का खामियाजा केवल मरीजों को भुगतना पड़ रहा है।

बाइट- सविन बंसल, जिलाधिकारी नैनीताल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *